Latest Video new

[ + view all Video + ]

Latest Photo new

[ + view all Photos + ]

Bishnoi Calendar new

        April 2017
S M T W T F S
            1
2
3
4
5
6
7
8
9
10
11
12
13
14
15
16
17
18
19
20
21
22
23
24
25
26
27
28
29
30
           
[ + view all Events + ]

Articles

[ + view all Articles + ]
Add to Favorites Contact Us
Welcome : Guest
भजन |3|

गाओ-गाओ ए सहियां म्हारी गीतड़ला, मुराली गाओ ए मुकाम। सुणेला थारी जाम्भेजी टेक

गढ़ चित्तौड़ ए जाम्भेजी पधारिया, झाली राणी रो दुख दियो मेट। सुणेला थारी जाम्भेजी॥

सासां जिणरा ए पल माही काटिया, सुण जाम्भेजी ग्यान। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

रावण गोविन्द ए जलरा प्यासिया, बादल दियो वरसाय। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

शहर फलोदी रा ए राव हमीरजी, ज्यारी दीन्ही तपत बुझाय। सुणेल थाली जाम्भेजी॥॥

वील्हो खाती ए रेवाड़ी शहर रो, ज्यानें सुरगा दी पहुचाया। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

बाजे जी भगत रो ए दुखडो निवासियो, बेटो दियो जवान। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

अलू चारण री ए व्यथा मिटाय दी, ज्यांरो काटयो जलोदर रोग। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

सिरिया झमकू ए जाम्भेजी री चोलियां, ज्यांने सुरगां दी पहुचाया। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

इण तीन लोक में ए बाने मत भूलज्यो, घर घर करो प्रचार। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

अमर सुहागण ए जाम्भेजी राखेला, भरिया राखेला भण्डार।सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

गावे ज्यारां ए पाप झड़ पडै । आवागमण मिटाजाय,सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥

हरजस कथियों ए सूरजाराम ने, राख पूरो विश्वास। सुणेला थाली जाम्भेजी॥॥


  Website Designed & Maintained By : 29i Technologies