Bishnoi saves deer, deers in bishnoi village, bishnoi saves wildlife
Add to Favorites Contact Us
Welcome : Guest
आरती

ओउम जय जगदीश हरे, प्रभु जय जगदीश हरे, भक्त जनों के संकट पल में दूर करें । ओउम ।

जो ध्यावै फल पावै दुख विनशे मन का, सुख सम्पत्ति घर आवै कष्ट मिटै तनका । ओउम ।

मात पिता तुम मेरे शरण गहुं किसकी। प्रभु। तुम बिन और न दूजा, आस करू किसकी । ओउम ।

तुम पूर्ण परमात्मा, तुम अन्तर्यामी। प्रभु पारब्रह्‌म परमेश्वर, तुम सबके स्वामी । ओउम ।

तुम हो एक अगोचर, सबके प्राणपति। प्रभु किस विधि मिलूं दयामय, तुमको मै कुमति । ओउम ।

दीनबन्धु दुख हरता, तुम ठाकुर मेरे प्रभु। अपने हाथ उठाओ द्वार पड़ा तेरे । ओउम ।

विषय विकार मिटाओ, पाप हरो देवा। प्रभु । भगत शिवानन्द स्वामी वांछित फल पावै । ओउम ।

जगदीश स्वामी की आरती जो कोई गावे। प्रभु भक्त जनों के संकट, क्षण में दूर करे । ओउम ।

  Website Designed & Maintained By : 29i Technologies